IRJMSH

*Contents are provided by Authors of articles. Please contact us if you having any query.

 
Manju
Md University , Rohtak
Year of Publish -2014 Month - February  
       
महाकवि कालिदास के साहित्य में स्त्री पात्रो के मनोभावों का विश्लेषन ( मनोविज्ञान के परिप्रेष्य मे)
Sanskrit
Under Guidence of : - Prof. Surender Kumar
Email : - *****Amita Loura [louraamita@gmail.com]****
Md University , Rohtak


Abstract

मनोविज्ञान मन के विज्ञान से संबंधित है। मनोविज्ञान के द्वारा ही मानव मन तथा उसके कायो± को समझा जा सकता है। किसी व्यकित ने किन-किन भावनाओं से प्रेरित होकर कार्य किया तथा उसके तथाकथित व्यवहार के क्या कारण हैं इन प्रश्नों का उत्तर केवल मनोविज्ञान के द्वारा ही प्राप्त हो सकता है। मनोविज्ञान की पृष्ठभूमि में साहित्य की व्याख्या सही परिप्रेक्ष्य में सम्भव है। साहितियक विवेचना के लिए मनोवैज्ञानिक कारण भी महत्त्वपूर्ण स्वीकार किये जाते हैं, जिनकी पृष्ठभूमि में साहित्यकार को अन्त: प्रेरणा एवं प्रोत्साहन मिलता है, क्योंकि साहित्यकार अपनी मान्यताओं एवं अनुभवों के आधार पर साहित्य का निर्माण करता है। कालिदास संस्कृत साहित्य के अद्वितीय रत्न हैं। कालिदास ने अपने साहित्य में पात्राों के माध्यम से बड़े सूक्ष्म ढ़ंग से मनोवैज्ञानिक चित्राण प्रस्तुत किया है। प्रस्तुत शोध प्रबन्ध में उनके साहित्य में चित्रित स्त्राी पात्राों के मनोभावों का मनोवैज्ञानिक विश्लेषण किया गया है। यह शोध छह अध्यायों में विभक्त है।

cytotec abortion pill buy online

cytotec abortion abortion pill medical abortion pill online

abortion pill online purchase

buy the abortion pill online abortion pill how to order the abortion pill online